Archive for મે, 2014

तन्हा जब दिल होगा, आपको आवाज़ दिया करेंगे.


तन्हा जब दिल होगा, आपको आवाज़ दिया करेंगे.
रात मे सितारोंसे आपका ज़िक्र किया करेंगे.
आप आए या ना आए हमारे ख्वाबोमे,
हम बस आपका इंतेज़ार किया करेंगे.
ख्वाब देखने के लिए अब सो जाएँगे…

-PPP

મિજાજ આમારો રંગીન છે


મિજાજ આમારો રંગીન છે, વાત ઘણી સંગીન છે,
પ્રેમ થયો જેની સાથે, ઈ જારા ગમ-ગીન છે !!!

-દર્દિલ

ये हवाएँ चलती रहती


ये हवाएँ चलती रहती, चाँदनी भी यूँ महकती रहती,
वो आजाते तो अच्छा होता, साँसे भी अबतक चलती रहती !!!

-दर्दिल

दुश्मन ज़माना सो गया


दुश्मन ज़माना सो गया, इश्क मे जीने वाले जाग गये,
ये प्यार वालो का मोहल्ल्ल हे यारो, नफ़रत वाले भाग गये!!!

-दर्दिल

जो नही आता उसकी का इंतेज़ार क्यूँ होता है


जो नही आता उसकी का इंतेज़ार क्यूँ होता है,
किसी और के लिए ये दिल क्यूँ बेकरार होता है.
वैसे तो इस दुनिया मे काफ़ी कुछ है प्यारा,
लेकिन जो नही मिलता उसी से प्यार क्यूँ होता है…!!

-PPP

आशिक का गम ना उसने जाना


आशिक का गम ना उसने जाना, ना दुनियाने,
बेचारा दफ़न हुवा कब्र मे, ना उसने आसू बहाया ना किसी ने…!!!

-दर्दिल

हमे ना मालूम था कितनी मोहब्बत करनी थी


हमे ना मालूम था कितनी मोहब्बत करनी थी,
पर जितनी भी करनी थी, बे-हद करनी थी,
लो तोड़ दिए सारे कीर्तिमान आज,
कोई कहेगा कैसा आशिक था, ये बाते ना सुननी थी…

-दर्दिल